Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

आई.पी.सी. धारा 416 और 419 क्या है | What is section 416 क्ष 419 of IPC

आई.पी.सी. धारा 416 और 419 क्या है | What is section 416 क्ष 419 of IPC



धारा 416 और 419 यह भारतीय दंड संहिता 1860 मे चाप्टर 17 में दिया गया है। इस धारा के अनुसार, जो भी कोई व्यक्ति प्रतिरूपण द्वारा छल करेगा, तो उसे किसी एक अवधि के लिए कारावास जिसे तीन वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है, या आर्थिक दण्ड, या दोनों से दण्डित किया जाएगा। आइये इस लेख के माध्यम से आज हम आई.पी.सी. धारा 416 और 419 क्या है | What is section 416 क्ष 419 of IPC के बारेमें जानकारी हसिल करनेकी कोशिश करते है।

भारती दंड संहिता 
धारा 419- प्रतिरुपण द्वारा छल के लिए दंड-

जो कोई प्रितिरुपण द्वारा छल करेगा, वह दोनों में से किसी भाँति के कारावास से, जिसकी अवधि तीन वर्ष तक की हो सकेगी, या जुर्माने से, या दोनों से दंडित कीया जाएगा।


Section 419 in The Indian Penal Code
Punishment for cheating by personation-

Whoever cheats by personation shall be punished with imprisonment of either de­scription for a term which may extend to three years, or with fine, or with both.

Classification of offence

  1. Punishment – Imprisonment for 3 year, or fine or both.
  2. Cognizable
  3. Bailable
  4. Triable by any Magistrate
  5. Compoundable


धारा 419 के अनुसार शिक्षा देने के लिए इसके व्याख्याको समझना जरूरी है। इसके बारेमें धारा 416 मे बताया गया है।


भारती दंड संहिता 
धारा 416- प्रतिरुपण द्वारा छल-

कोई व्यक्ति “प्रतिरुपण द्वारा छल करता है”, यह तब कहा जाता है, जब वह यह अपदेश करके कि वह कोई अन्य व्यक्ति है, या एक व्यक्ति को किसी अन्य व्यक्ति के रुप में जानते हुए प्रतिस्थापित करके, या यह व्यपदिष्टकरके कि वह या कोई अन्य व्यक्ति, कोई ऐसा व्यक्ति है, जो वस्तुतः उससे या अन्य व्यक्ति से भिन्न है, छल करता है।

स्पष्टीकरण- यह अपराध हो जाता है चाहै वह व्यक्ति जिसका प्रतिरुपण किया गया है, वास्तविक व्यक्ति हो या काल्पनिक।


Section 416 in The Indian Penal Code
Cheating by personation-

A person is said to “cheat by personation” if he cheats by pretending to be some other person, or by knowingly substituting one person for another, or representing that he or any other person is a person other than he or such other person really is.

Explanation- The offence is committed whether the individual personated is a real or imaginary person.


उदाहरण -

पहचान की आड़ में प्रतिरूपण कि आड में किया गया था। भले ही वह व्यक्ति वास्तविक व्यक्ति हो अथवा कोई काल्पनिक व्यक्ति हो, वह अपराध होता है।
  1. ''अ'' अपने ही नाम का एक पढ़ा-लिखा धनी साहूकार है, जो अपना होने का नाटक करके ठगी करता है।
  2. ``सी'' यह दिखावा करके धोखा देता है कि वह ``बी'' है। वह व्यक्ति मर चुका है। इस स्थान पर 'सी' ने प्रतिरूपण किया और धोखा दिया।
  3. यदि 'अ' के स्थान पर 'ब' बैठ गया और 'अ' के स्थान पर उत्तर-पुस्तिका लिख दी, तो यह कहा जा सकता है कि 'अ' ने प्रतिरूपण करके धोखा दिया है।

क्रॉस एग्जामिनेशल / जरह के लिए नमूना प्रश्न-

ऐसे मामले में नीचे बताए अनुसार क्रॉस एग्जामिनेशल / जरह किया जा सकता है।
  1. घटना के दूसरे दिन पीड़िता ने शिकायत दर्ज की।
  2. कर्मचारियों की गवाही और कंप्लेनंट की गवाही के बीच एक बुनियादी विसंगति है।
  3. घटना के बाद परीक्षा का समय शुरू होते ही 10-15 मिनट में आरोपी पकडा गया, लेकिन उत्तर पुस्तिका आरोपी के कब्जे में नहीं थी।
  4. जब आपने आरोपी को हिरासत में लिया तब वह परीक्षा हॉल के बाहर था।
  5. आरोपी के कब्जे से परीक्षा से संबंधित कोईभी दस्तावेज और कागजाद नहीं मिले।
  6. परीक्षा हॉल में बैठे सभी छात्रों ने अपनी उत्तर पुस्तिकाएं लिख ली हैं और सभी छात्र उपस्थित थे।
  7. आरोपी अपने दोस्त के साथ गया था। फिर शक के आधार पर उसके खिलाफ झूठा केस दर्ज किया गया।
  8. पुलिस में शिकायत दर्ज कराने से पहले उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट नहीं किया गया।
  9. घटना के दिन मौजूद अन्य कर्मचारियों की गवाही में अभियुक्तों के विवरण और अभियोजन पक्ष की गवाही के बीच काफी विसंगतियां है।
  10. वरिष्ठों और स्थानीय राजनीति के दबाव में आरोपी के खिलाफ झूठा मुकदमा बनाया गया है।
  11. अभियुक्त के कब्जे से जब्त सामग्री और पंचानम्य में दिए गए विवरण में काफी अंतर है।

इस लेख के माध्यम से हमने हमारे पाठकों को आई.पी.सी. धारा 416 और 419 क्या है | What is section 416 क्ष 419 of IPC इसके बरेमें सही जानकारी देने का प्रयास किया है। आशा है, आपको यह लेख पसंद आया होगा। इसी तरह कानूनी जनकारी पढने के लिए आप हमारे इस चैनल apanahindi.com पर आवश्य भेट दें।


यह भी पढे


थोडा मनोरंजन के लिए



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ