Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

बहन द्वारा हक्कत्यागपत्र का नमुना / बहन द्वारा अस्वीकार नमुना

 बहन द्वारा  हक्कत्यागपत्र का नमुना /  बहन द्वारा अस्वीकार नमुना


परिचय

हमारे देश में, संयुक्त हिंदू परिवार प्रणाली के पारंपरिक व्यवसाय बरसोसे चलते आ रहा हैं। संयुक्त हिंदू परिवार प्रणाली में, सभी सदस्यों की हिंदू परिवार की संपत्ति में एक समान हिस्सा होता है। और सभी को समान अधिकारभी होते हैं। मान लीजिए कि किसी एक व्यक्ती को एक संयुक्त हिंदू परिवार में एक हिस्सा है। वह व्यक्ती अन्य उत्तराधिकारियों के बड़े भलाई के लिए उस हिस्से को त्याग देता है। जैसे आमतौर पर माता-पिता अपनी बेटी की शादीमे और अन्य कारणों में बहोत खर्चा करते रहते हैं। उनके शादीके बाद वह किसी और के घर की बहू या किसीकी पत्नी बन जाती है। और उस नए घर में उसे कुछ नए अधिकार मिलते हैं। इसलिए, आमतौर पर, लड़कियां हिंदू परिवार में अपने अधिकारों और हिस्सेदारी को छोड़ने का फैसला करती हैं। फिर एक दस्त द्वारा अधिकार छोड़ना आवश्यक होता है। जिस संपत्ती से हक्क को त्याग करना है उस के मुल्य के राशि के अनुसार स्टेंम्प दिया जाता है।


अब, एक हिंदू संयुक्त परिवार में, बहने या भाइयों द्वारा, किये गये हक्कत्यागपत्र के बारेमे अधिक जानने के लिए, इसके पैटर्न या नमुना का अध्ययन करना और इसके बारे में सीखना आवश्यक है। वह इस प्रकार है।


बहन द्वारा  हक्कत्यागपत्र का नमुना /  बहन द्वारा अस्वीकार नमुना


 मैं श्रीमती -------------------- आयु ---- वर्ष, व्यवसाय ---------------- पता------------- तालुका ---------------- जिला ------------------  अपने पुरे होशोहवासमे यह हक्क-त्याग  पत्र लिखकर देती हूं,

 मैं उपरोक्त पते पर स्थायी रुपसे निवासी हूं, और मैं ----------- यहां काम करती हूं, और मेरे पति -------------- में काम करते हैं। और हमारे परिवार की आजीविका इस पर निर्भर करती है, मेरी शादी, श्री ------------------- इनके साथ दिनांक------------- इस दिन हुवा है। मेरे शादिके पेहले का नाम -------------------------- है। और शादी के बाद का नाम ------------------------ है। मुझे ------ बच्चे है और उनके नाम --------------- है।

 मेरे मायकेमे संयुक्त हिंदू परिवार प्रणाली होनेके कारण मुझे हिंदू परिवार प्रणाली की तहद हमारे हिंदू एकत्र परिवार मे मेरा भी हिस्सा है। ईस्से आगे मै और मेरे उत्तराधिकारी मे कोईभी किसी भी प्रकारका अधिकार या हितों का दावा नहीं करेंगे। मेरे पास जो भी अधिकार और हित हैं, मुझे समय-समय पर मेरे माता-पिता द्वारा मुआवजा दिया गया है। मुझे कुल ------ भाई भाई है। मुझे लगता है कि उन्हें हिंदू परिवार का पूरा हिस्सा एक साथ मिलना चाहिए। मेरे पास जितने अधिकार और विशेषाधिकार हैं, मैं इस दस्त के साथ उन सबसे इस्तीफा दे कर अपना हक्कत्याग कर रही हूं।

 यह दस्त मेरे साथ-साथ मेरे उत्तराधिकारी, असाइनमेंट, ट्रस्टी आदि के लिए बाध्यकारी है।

ऊपर दि गयी पूरी जानकारी मेरे ज्ञान और समझ के अनुसार सही और सटीक लिखा गया है और मैंने स्वेच्छा से अपना हक्क त्याग रही हू, मैने यह हक्क त्याग पत्र किसी के उत्पीड़न का शिकार हुए बिना लिख कर दे रही हू। इसकी सत्यता के लिए, मैं आज निम्नलिखित गवाहों के सामने इस पर हस्ताक्षर कर रही हूं।

तारीख: ----------------
स्थान: ---------------

                                                                                      दावेदार के हस्ताक्षर
गवाह
1) -------------------------------
2) -------------------------------



उपरोक्त जानकारी और नमूने के आधार पर आपको यह समझमे आया होगा के, एकत्र हिंदू परिवार की लड़की या बहन द्वारा किए जानेवाले हक्कत्यागपत्र कैसे करना है इसके बारेमे मालुमात होचूकी है। 


        यदि आपको अधिकार पत्र के बारे में पूरी जानकारी नहीं है, तो आप हक्कसोडपत्र / RELEASE  DEED पर क्लिक करके इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

यह भी पढे


थोडा मनोरंजन के लिए


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ